kumar news

Kumar
5 minutes
share
upper thumbnail

जागरण संवाददाता, प्रयागराज : अयोध्या स्थित श्रीराम जन्मभूमि पर पांच अगस्त को मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमिपूजन में प्रयागराज से 19 जिलों की मिट्टी भेजी जाएगी। त्रिवेणी जल और मिट्टी बुधवार को ही ण्एकत्रित की जा चुकी है। आसपास के अन्य जिलों में पवित्र स्थलों से मिट्टी और जल लाने का क्रम गुरुवार शाम तक जारी रहा। इसे विहिप कार्यालय केसर भवन में रखा जा रहा है। शुक्रवार दोपहर 12:30 बजे विहिप संगठन मंत्री मुकेश कुमार मिट्टी व जल लेकर अयोध्या रवाना होंगे।

 

विहिप प्रवक्ता अश्वनी मिश्र ने बताया कि भूमि पूजन कार्यक्रम में त्रिवेणी के साथ ही श्रृंगवेरपुर गंगा घाट का भी जल भेजा जा रहा है। काशी विश्वनाथ मंदिर तथा कबीर मठ, महर्षि भारद्वाज आश्रम, सीतामढ़ी, प्रतापगढ़, जौनपुर, मीरजापुर, सोनभद्र, अमेठी, सुल्तानपुर सहित कुल 19 जिलों के पवित्र स्थलों की मिट्टी व जल भूमि पूजन में प्रयुक्त होगा। बताया कि पहले 30 जुलाई को मिट्टी व जल लेकर अयोध्या भेजे जाने का कार्यक्रम तय था लेकिन कुछ जिलों से मिट्टी नहीं लाई जा सकी, इसलिए कार्यक्रम को आगे बढ़ाना पड़ा।

200 टोलियां कर रही हैं दीपोत्सव मनाने के लिए जनसंपर्क

 

भूमिपूजन के दिन विहिप ने पूरे देश में दीपोत्सव मनाने का आह्वान भी किया है। संगठन के पदाधिकारी लोगों से आग्रह कर रहे हैं कि वह शाम सात बजे घरों में कम से कम पांच घी के दीये जलाएं। काशी प्रांत के 19 जिलों में इसके लिए 200 से अधिक कार्यकर्ताओं की टोलियां जनसंपर्क में लगी हैं। मीडिया प्रभारी के मुताबिक प्रयागराज से कुछ कार्यकर्ता भी व्यवस्था संभालने अयोध्या जाएंगे।

 

Kumar
share
New Blog
New Gallery